1. Home
  2. Gadget

अब स्मार्टफोन में होगा AI सचिव, OnePlus ला रहा है अनोखा फीचर

अब स्मार्टफोन में होगा AI सचिव, OnePlus ला रहा है अनोखा फीचर
दरअसल, एंड्रॉयड अथॉरिटी ने Oxygen OS 14.1 पर इस अंडर-डेवलपमेंट फीचर को देखा। यह फीचर फिलहाल इनेबल नहीं है और पब्लिकेशन ने कंपनी के सॉफ्टवेयर के टियरडाउन के दौरान इसकी खोज की।

OnePlus एक कमाल का AI फीचर ला रहा है, जो वॉयस को टेक्स्ट में बदल देगा। एक रिपोर्ट के मुताबिक, वनप्लस कथित तौर पर एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) फीचर पर काम कर रहा है, जो यूजर्स को वॉयस रिकॉर्डिंग से टेक्स्ट समरी बनाने की अनुमति देगा।

यह फीचर ऑक्सीजन ओएस के लेटेस्ट वर्जन में देखा गया था, जो एंड्रॉयड के लिए कंपनी की कस्टम स्किन है। कहा जा रहा है कि यह कई ऑडियो फॉर्मेट का सपोर्ट करता है।

यह फीचर वर्तमान में दिखाई नहीं दे रहा है और बीटा प्रोग्राम में भाग लेने वाले लोग इसका टेस्ट नहीं कर पाएंगे। दिलचस्प बात यह है कि भारत का नाम उन देशों में है, जहां इस फीचर को सबसे पहले लॉन्च किया जा सकता है।

वनप्लस फोन्स में मिलेगा AI वॉयस रिकॉर्डिंग समरी फीचर

दरअसल, एंड्रॉयड अथॉरिटी ने Oxygen OS 14.1 पर इस अंडर-डेवलपमेंट फीचर को देखा। यह फीचर फिलहाल इनेबल नहीं है और पब्लिकेशन ने कंपनी के सॉफ्टवेयर के टियरडाउन के दौरान इसकी खोज की।

कहा जा रहा है कि वनप्लस एक साउंड रिकॉर्डर पर काम कर रहा है जो AI समराइजर फीचर का उपयोग करता है जिसे कंपनी ने इस साल की शुरुआत में पेश किया था और इसे वनप्लस 12 और वनप्लस ओपन पर देखा गया था।

रिकॉर्डिंग का फाइल साइज और फॉर्मेट

कोड की स्ट्रिंग्स भी कथित फीचर के बारे में कुछ सुराग देती हैं। उदाहरण के लिए, AI वॉयस रिकॉर्डिंग समरी फीचर स्ट्रिंग "convert_error_format" के अनुसार MP3, AMR, AWB, AAC और WAV सहित कई ऑडियो फाइल फॉर्मेट का सपोर्ट करेगी।

पब्लिकेशन द्वारा खोजे गए स्ट्रिंग्स के अनुसार, रिकॉर्डिंग का फाइल साइज 500MB से छोटा होना चाहिए, और रिकॉर्डिंग की लंबाई पांच घंटे से कम होनी चाहिए ताकि यह फीचर काम कर सके। इसके अलावा, ऐसा लगता है कि बहुत छोटी वॉयस रिकॉर्डिंग का उपयोग समरी बनाने के लिए नहीं किया जाएगा।

इसे पैड सब्सक्रिप्शन के साथ ला जा सकता है

इसके अलावा, कोड की स्ट्रिंग्स इस बात पर प्रकाश डालती हैं कि यूजर द्वारा एक साथ शुरू किए जा सकने वाले समरी जनरेशन टास्क की संख्या की एक लिमिट होगी।

एक डेली लिमिट भी होगी, जिसके बारे में फिलहाल जानकारी सामने नहीं आई है। इन क्राइटेरिया का मतलब यह हो सकता है कि इन फीचर्स के लिए सर्वर-लेवल की लिमिट है। इसे पैड सब्सक्रिप्शन के साथ भी पेश किया जा सकता है।

सबसे पहले इन देशों में आएगा फीचर

पब्लिकेशन ने एंड्रॉयड 15 डेवलपर प्रीव्यू 2 पर फीचर के बारे में बताने वाले कोड के स्ट्रिंग भी खोजे हैं। इन स्ट्रिंग्स ने फीचर के बारे में अधिक जानकारी नहीं दी, लेकिन उन जगहों के बारे में बताया जहां इसे सबसे पहले लॉन्च किया जा सकता है।

रिपोर्ट के अनुसार कथित तौर पर तीन भाषाओं का उल्लेख किया गया है - चीनी, हिंदी और अंग्रेजी - जो बताता है कि AI वॉयस रिकॉर्डिंग समरी फीचर सबसे पहले चीन, भारत और अमेरिका में आ सकता है।


देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें पाने के लिए अब आप HaryanaNewsPost के Google News पेज और Twitter पेज से जुड़ें और फॉलो करें।