1. Home
  2. Utility News

टैक्सपेयर्स के लिए जरूरी खबर, ITR भरने के लिए फार्म हुआ जारी

टैक्सपेयर्स के लिए जरूरी खबर, ITR भरने के लिए फार्म हुआ जारी
आयकर विभाग ने अभी तक आईटीआर के लिए ऑनलाइन फॉर्म को इनेबल नहीं किया है. अभी के लिए उसने आईटीआर 1 और आईटीआर-4 के लिए एक्सेल यूटिलिटी जारी की है. 

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने वित्त वर्ष 2022-23 (AY 2023-24) के लिए इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करने के लिए ITR 1 और ITR-4 ऑफलाइन फॉर्म जारी कर दिए हैं. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने फॉर्म को लेकर फरवरी में नोटीफिकेशन जारी किया था, अब फॉर्म जारी किए गए हैं.

आयकर विभाग ने अभी तक आईटीआर के लिए ऑनलाइन फॉर्म को इनेबल नहीं किया है. अभी के लिए उसने आईटीआर 1 और आईटीआर-4 के लिए एक्सेल यूटिलिटी जारी की है. अगर कोई टैक्सपेयर अभी आईटीआर फाइल करना चाहते हैं तो उन्हें इनकम टैक्स ई-फाइलिंग पोर्टल से यूटिलिटी डाउनलोड करनी होगी.

आईटीआर दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2023 है.ई-फाइलिंग आयकर पोर्टल के अनुसार एसेसमेंट ईयर 2023-24 के लिए आईटीआर 1 और आईटीआर 4 की एक्सेल यूटिलिटीज फाइलिंग के लिए उपलब्ध हैं.

आयकर विभाग ने अभी ITR-1 और ITR-4 के लिए JSON यूटिलिटी जारी नहीं की है. इसके अलावा आयकर विभाग ने अभी तक अन्य आयकर रिटर्न फॉर्म भी जारी नहीं किए हैं. इसका मतलब यह है कि अगर कोई व्यक्ति अभी आईटीआर फाइल करना चाहता है, तो उसे इनकम टैक्स ई-फाइलिंग पोर्टल से यूटिलिटी डाउनलोड करनी होगी.

एक बार यूटिलिटी फॉर्म में इनकम और डिडक्शन से जुड़ी जानकारी भर जाने के बाद इसे इनकम टैक्स ई-फाइलिंग पोर्टल पर अपलोड करना जरूरी होगा. ऑनलाइन आईटीआर फॉर्म के लिए सीधे ई-फाइलिंग इनकम टैक्स पोर्टल पर उपलब्ध ऑनलाइन फॉर्म में जानकारी भरनी होती है.

टैक्सपेयर्स को यह याद रखना चाहिए कि आईटीआर फॉर्म ऑफलाइन या ऑनलाइन जमा करने के बाद उसे सत्यापित करना अनिवार्य है. क्योंकि, बिना सत्यापित ITR को आयकर विभाग प्रक्रिया के लिए आगे नहीं बढ़ाता है.

टैक्सपेयर्स की सहूलियत के लिए आयकर विभाग ने ऑफलाइन फॉर्म जारी किए हैं, लेकिन सैलरीड टैक्सपेयर्स को आईटीआर फाइल करने के लिए अपने नियोक्ता से फॉर्म 16 लेना होगा. नियोक्ता द्वारा फॉर्म 16 जारी करने की तारीख 15 जून 2023 है. वित्त वर्ष 2022-23 या एसेसमेंट ईयर 2023-24 के लिए टैक्सपेयर्स को आईटीआर दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2023 है.

हालांकि, जिन टैक्सपेयर्स के खातों को ऑडिट करने की आवश्यकता होगी उन्हें समयसीमा अधिक दी जाएगी.सीबीडीटी ने फरवरी 2023 की शुरुआत में आयकर रिटर्न फॉर्म का नोटीफिकेशन जारी किया था.

आमतौर पर यह प्रक्रिया अप्रैल के महीने में की जाती रही है. इनकम टैक्स रिटर्न फॉर्म में इस साल कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ है. आईटीआर फॉर्म में एकमात्र बदलाव यह है कि यह टैक्सपेयर्स को क्रिप्टो और वर्चुअल डिजिटल संपत्ति लेनदेन से संबंधित जानकारी का खुलासा करना अनिवार्य है.

आयकर कानूनों में संशोधन 1 अप्रैल 2022 से क्रिप्टो और अन्य वर्चुअल संपत्ति को टैक्सेबल बना दिया. वहीं, क्रिप्टो और वर्चुअल संपत्ति टैक्सेशन की घोषणा भी की गई है.


देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें पाने के लिए अब आप HaryanaNewsPost के Google News पेज और Twitter पेज से जुड़ें और फॉलो करें।